22 अप्रैल 2019, सोमवार | समय 06:04:06 Hrs
Republic Hindi Logo

बिहार विधानमंडल का सत्र आज से, हंगामे के आसार

By Republichindi desk | Publish Date: 2/11/2019 9:22:28 AM
बिहार विधानमंडल का सत्र आज से, हंगामे के आसार

पटना: बिहार विधानमंडल का सत्र आज से शुरू हो रहा है. ग्यारह फरवरी से शुरू होने जा रहे विधानमंडल का सत्र हंगामेदार होने के आसार हैं. हालांकि सत्र के पहले दिन विधानमंडल के नये भवन में राज्यपाल संयुक्त सदन को संबोधित करेंगे. राज्यपाल के अभिभाषण के बाद  आर्थिक सर्वेक्षण भी प्रस्तुत किया जाएगा.

विपक्ष सधी रणनीति के साथ करेगा सरकार पर हमला
 
राज्य सरकार की तैयारी के बीच विपक्षी दलों ने एनडीए सरकार पर धावा बोलने की रणनीति तैयार की है. कानून व्यवस्था, सृजन घोटाले समेत कई मामलों पर सरकार को घेरने की तैयारी है. भाकपा माले विधायक दल ने 11 फरवरी से आरंभ हो रहे विधानसभा सत्र में विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है. राष्ट्रीय जनता दल भी सदन में पुरजोर तरीके से अपनी बात रखेगा. राजद विधायक दल की बैठक भी बुलाई गई है. माले विधायक दल के नेता महबूब आलम, दरौली विधायक सत्यदेव राम और तरारी विधायक सुदामा प्रसाद ने इस संदर्भ में बैठक आयोजित की. माले विधायक दल ने कहा है कि अररिया में मॉब लिंचिंग, राज्य में बढ़ती अपराध की घटनाओं, महिलाओं की सुरक्षा, विगत एक महीने से जारी रसोइया संगठनों की हड़ताल, धान खरीद की गारंटी, गरीबों को जबरन उजाड़ने, स्कीम वर्करों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा, सिकमी बटाईदारों को पुतैनी अधिकार, समान शिक्षा पण्राली लागू करने आदि सवालों पर सरकार को घेरा जाएगा. बिहार में पूरी तरह भाजपा का शासन चल रहा है. मॉब लिंचिंग की घटनाएं आम होती जा रही हैं जो दिखलाती हैं कि भाजपा-आरएसएस बिहार में सांप्रदायिक उन्माद की गहरी साजिश रच रही है और इस पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुप्पी साध रखी है.
 
डिप्टी सीएम ने मांगा सबों का सहयोग
 
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि 11 फरवरी से प्रारंभ होने वाले विधान मंडल के बजट सत्र को सफल बनाने की कोशिश सबको करनी चाहिए. सदन में जनता से जुड़े मुद्दे उठाने से कभी नहीं रोका जाता. सरकार हर सवाल का उत्तर देने के लिए तैयार रहेगी, लेकिन सवाल करने वालों को सदन की मर्यादा का ध्यान रखना चाहिए. सुशील मोदी ने कहा कि राज्यपाल का अभिभाषण, बजट भाषण व विभिन्न विधेयकों पर चर्चा तथा प्रश्नों का उत्तर सुनने के लिए विपक्ष यदि धैर्य रखेगा तो बजट सत्र काफी उपयोगी सिद्ध होगा.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus